कंप्यूटर और लैपटॉप में क्या अंतर है?

हम आपको बताने वाले है कि कंप्यूटर और लैपटॉप में क्या अंतर है? ओर अगर आप इनमे से किसी एक को लेना चाहते हैं तो यह पोस्ट आपके लिए हैं ।

आजकल टेक्नोलॉजी बहुत तेजी से घरों घर पहुंच रही है। और ऐसे में ऑनलाइन पढ़ाई का चलन सभी को तकनीकी उपकरण जैसे फोन, कंप्यूटर, लैपटॉप आदि खरीदने के लिए प्रेरित कर रहा है।

अगर आप भी नया लैपटॉप या कंप्यूटर लेने की सोच रहे हैं और यह तय नहीं कर पा रहे हैं कि आपको एक लेना चाहिए या नहीं। डेस्कटॉप कंप्यूटर या लैपटॉप?

कंप्यूटर और लैपटॉप में क्या अंतर है?

जब भी लोग नया computer device खरीदने के बारे में विचार करते हैं तो उनके मन में पहले एक ही सवाल आता है कि - क्या laptop सही है ? या desktop सही है ? हालाँकि डेस्कटॉप कंप्यूटर और लैपटॉप दोनों कंप्यूटर हैं, उसके बाद भी दोनों में बहुत अंतर है।

computer खरीदते समय लोग सोचते हैं कि अगर एक ही जगह काम करना है तो desktop computer सही है क्योंकि इसे हर जगह नहीं ले जाया जा सकता। लेकिन आपका काम अगर घर और बाहर दोनों जगह से है तो ? आज अगर आप नया कंप्यूटर या लैपटॉप खरीदते हैं तो इसके अलावा भी आपको कई बातों का ध्यान रखना होगा। जिसके बारे में आप इस पोस्ट में जानेंगे।

इस पोस्ट में आपको कंप्यूटर और लैपटॉप में अंतर बताया जाएगा, इसलिए इसे पूरा पढ़ें। कंप्यूटर और लैपटॉप के बीच अंतर स्पष्ट करने से पहले, आइए जानते हैं कि डेस्कटॉप कंप्यूटर क्या है और लैपटॉप क्या है?

     डेस्कटॉप कंप्यूटर क्या है?

    Desktop Computer को personal computer के नाम से भी जाना जाता है. इस कंप्यूटर को मुख्यतः एक  ही जगह पर काम करने के लिए बनाया गया है. इस तरह के Computer का प्रयोग ज्यादातर एक table के ऊपर रखकर किया जाता है. क्योंकि यह system बहुत बड़ा होता है ।

    ऐसे कंप्यूटर में अलग-अलग तरह के components जैसे मानिटर , कि-बोर्ड , माउस , सीपीयू अलग से लगे होते हैं. desktop computer को  ट्रेडिशनल कंप्युटर के नाम से भी जाना जाता है. इस तरह के computer में बैटरी नहीं होती हैं. क्योंकि यह direct current supply से चलती हैं ।

    लैपटॉप क्या है?

    लैपटॉप कंप्यूटर का एडवांस वर्जन है। जहां कंप्यूटर में मॉनिटर, सीपीयू, माउस सभी अलग-अलग होते हैं। लैपटॉप एक ऐसी डिवाइस है जिसमें ये तीनों कंपोनेंट एक साथ मौजूद होते हैं। लैपटॉप एक छोटे आकार का कंप्यूटर होता है। जिसे आसानी से अपने बैग में कहीं भी ले जाया जा सकता है।

    लैपटॉप पूरी तरह से कंप्यूटर की तरह काम करता है लेकिन यह केवल आकार में छोटा होता है। लैपटॉप बिल्कुल नोटबुक की तरह है। लैपटॉप उन लोगों के लिए अच्छा है जो यात्रा के दौरान काम करते हैं।

    कंप्यूटर और लैपटॉप क्या है? इसके बारे में तो आप जानते ही होंगे। हालाँकि दोनों कंप्यूटर हैं, फिर भी यह एक दूसरे से कैसे भिन्न है? तो आइए जानते हैं इन दोनों में क्या अंतर है जो इन्हें औरों से अलग बनाता है।

    कंप्यूटर और लैपटॉप में क्या अंतर है?

    कंप्यूटर और लैपटॉप दोनों एक जैसे काम करते हैं। लेकिन कई ऐसे कारक हैं, जिनके आधार पर कंप्यूटर और लैपटॉप में अंतर होता है। कंप्यूटर और लैपटॉप के बीच अंतर

    मूल्य - मूल्य वह कारक है जो कंप्यूटर और लैपटॉप दोनों को प्रभावित करता है। जहां आपको एक अच्छा लैपटॉप लेने के लिए 25,000 - 30,000 रुपये खर्च करने पड़ते हैं, वहीं आपको 20,000 - 25,000 रुपये में एक अच्छा कंप्यूटर मिल जाता है। इसलिए, कीमत के आधार पर, एक कुशल कंप्यूटर बेहतर है।

    पोर्टेबिलिटी - पोर्टेबिलिटी की बात करें तो एक कंप्यूटर का आकार इतना बड़ा होता है कि उसके स्पेस को बार-बार नहीं बदला जा सकता है। साथ ही, CPU और माउस को कंप्यूटर से जोड़ा जाता है। जिससे इसे कहीं भी ले जाना मुश्किल हो जाता है। वही लैपटॉप एक नोटबुक के आकार का है। इसलिए इसे आसानी से कहीं भी ले जाया जा सकता है। इसलिए पोर्टेबिलिटी को देखते हुए लैपटॉप सबसे अच्छा विकल्प है।

    स्क्रीन साइज - कंप्यूटर या लैपटॉप में स्क्रीन साइज का बहुत महत्व होता है। कंप्यूटर के मॉनिटर यानि स्क्रीन को अपनी सुविधा के अनुसार बदला जा सकता है। लेकिन लैपटॉप एक निश्चित स्क्रीन साइज के साथ आता है। जिसमें किसी तरह का बदलाव नहीं किया जा सकता है। इसलिए यदि आप बड़ी स्क्रीन चाहते हैं, तो आप एक डेस्कटॉप कंप्यूटर चुन सकते हैं।

    कार्य करना - किसी भी कंप्यूटर या लैपटॉप की सबसे महत्वपूर्ण विशेषता कार्य करने की क्षमता उसकी कार्य करने की क्षमता है। लैपटॉप की तुलना में कंप्यूटर में बेहतर प्रोसेसर, रैम, जीपीयू आदि उपलब्ध हैं। यही कारण है कि अधिकांश हाई डेफिनिशन कार्य डेस्कटॉप कंप्यूटर में किया जाता है जैसे - वीडियो एडिटिंग, गेमिंग, एनिमेशन डिजाइनिंग, प्रोग्रामिंग आदि।

    अपग्रेडेशन - कंप्यूटर या लैपटॉप दोनों को लंबे समय तक इस्तेमाल करने के बाद अपग्रेड करने की जरूरत होती है यानी उनकी स्टोरेज क्षमता, रैम, प्रोसेसर आदि को बढ़ाना।

    अपग्रेड की बात करें तो लैपटॉप के मुकाबले डेस्कटॉप पर अपग्रेड करना ज्यादा आसान है। इसके अलावा, कंप्यूटर कम लागत पर अच्छी तरह से अपग्रेड होता है। वही लैपटॉप को अपग्रेड करना थोड़ा मुश्किल होता है, साथ ही इसकी कीमत भी ज्यादा होती है।

    रिपेयरिंग - रिपेयरिंग एक ऐसा कारक है जो कंप्यूटर और लैपटॉप के बीच बहुत बड़ा अंतर बताता है। यदि कंप्यूटर खराब हो जाता है,

    तो उसके खराब पुर्जों को ठीक किया जा सकता है या बदला जा सकता है और फिर उपयोग में लाया जा सकता है। साथ ही इसमें ज्यादा खर्च भी नहीं होता है।

    एक ही लैपटॉप में सभी चीजें इनबिल्ट होने के कारण अगर इसमें थोड़ी सी भी खराबी आ जाती है तो उसे रिपेयर करने में काफी खर्चा उठाना पड़ता है। कभी-कभी खराब लैपटॉप को ठीक करने में इतना खर्चा आता है कि उसमें नया कंप्यूटर खरीदा जा सकता है।

    ऐसे में अगर आप घर पर काम करते हैं तो आपको आंखें बंद करके कंप्यूटर लेना चाहिए। लेकिन यात्रा के दौरान आपको अपना काम करना होगा, तो लैपटॉप आपके लिए सबसे अच्छा रहेगा।

    Parameters of ComparisonDesktopLaptop
    Power करने की प्रक्रिया switch on करने के लिएWorks on electricity through wall socketsWorks on batteries
    PortabilityNot so portablePortable
    MobilitystationedMobile
    Storage capacity कैसीHigh storageLow storage
    Components (keyboard, CPU,mouse, etc.)External componentsBuilt in components
    laptop vs computer

    FAQ:- कंप्यूटर और लैपटॉप में क्या अंतर है ?

    दुनिया का सबसे पहला laptop कौन सा है?

    दुनिया का सबसे पहला laptop था Toshiba T1100.

    किस कंपनी ने पहली बार लैपटॉप बनाया था?

    Toshiba कंपनी ने सबसे पहली बार लैपटॉप बनाया था.

    लैपटॉप का अविष्कार किसने किया था?

    लैपटॉप का अविष्कार एडम ओसबोर्न ने किया था.

    इन्हें भी पढ़ें :-

    Conclusion :-

    तो दोस्तों आज कि इस पोस्ट मे कंप्यूटर और लैपटॉप में क्या अंतर है? के बारे मे पूरी जानकारी दी । अगर आपको यह जानकारी अछि लगती है तो कृपया इसे शेयर करें । अगर इसके अलावा भी आपका कोई सवाल  है तो कृपया कॉमेंट कर पूछें । 

    Post a Comment

    Please comment

    Previous Post Next Post